ये लोग फ्री में ले सकते हैं मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के तहत 10 लाख के बीमे का लाभ

नौकरी


नई दिल्ली: राजस्थान के लोगों के लिए अच्छी खबर है। सरकार ने राजस्थान मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना (Rajasthan Mukhya Mantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana) का दायरा बढ़ा दिया है। अब आप इस योजना के तहत 10 लाख रुपये के हेल्थ इंश्योरेंस का लाभ ले सकते हैं। हाल ही में राजस्थान की गहलोत सरकार ने बजट 2022 पेश किया है। इस बजट में चिरंजीवी योजना का दायरा बढ़ाया गया है। सरकार ने हेल्थ इंश्योरेंस की राशि को बढ़ाकर 10 लाख रुपये कर दिया है। इससे पहले योजना के तहत सिर्फ पांच लाख रुपये तक के इंश्योरेंस का ही फायदा उठाया जा सकता था। सरकारी और राज्य सरकार द्वारा चयनित अस्पतालों में इस बीमे का लाभ लिया जा सकता है। इस सरकारी सुविधा का लाभ लेने के लिए राज्य के लोगों को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में रजिस्ट्रेशन करना होगा।

इन लोगों को मुफ्त में मिलेगा योजना का फायदा
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत ग्राम पंचायत से लेकर शहर तक के लोगों को लाभ देना सुनिश्चित किया गया है। वहीं, इसमें लघु एवं सीमान्त किसानों और संविदाकर्मियों को भी रजिस्ट्रेशन करवाना होगा, ताकि वे भी इस स्वास्थ्य बीमा का लाभ पा सके। लेकिन अच्छी बात यह है कि इनका प्रीमियम राज्य सरकार की ओर से भरा जाएगा। उन्हें बीमा प्रीमियम नहीं भरना होगा। इसी के साथ कोविड 19 अनुग्रह राशि भुगतान प्राप्त करने वाले निराश्रित और असहाय परिवारों को भी कोई प्रीमियम राशि नहीं देनी होगी। इसके अलावा अन्य सभी लोगों को प्रीमियम राशि जमा करने पर ही इस योजना का लाभ मिल सकेगा।
Chiranjeevi Yojana: राजस्थान के लोगों को इस योजना में मिलता है 10 लाख रुपये तक का हेल्थ इंश्योरेंस, जानिए और क्या है खास
ये नहीं ले पाएंगे योजना का लाभ
राजस्थान की गहलोत सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को इस योजना से बाहर रखा है। सरकारी कर्मचारी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं। उनके लिए प्रदेश सरकार जल्दी ही सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम (CGHS) की तर्ज पर कैशलेस बीमा का लाभ देने के लिए राजस्थान गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम (RGHS) लागू करने की तैयारी कर रही है।

जानिए कितनी बीमारियां होंगी कवर
चिरंजीवी योजना के तहत 1576 प्रकार की बीमारियों को कवर किया गया है। इस योजना के पात्र परिवारों को बीमा प्रीमियम के तौर पर 50% राशि यानि न्यूनतम 850/- रूपये सालाना प्रीमियम के रूप में जमा कराने होंगे। अस्पताल में भर्ती होने के पांच दिन पूर्व और डिस्चार्ज होने के 15 दिन के बाद तक का खर्चा/व्यय इस बीमा के अंदर कवर किया जाता है। वहीं, जो लोग पहले से ही महात्मा गांधी आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ पा रहे है ,उन्हें रजिस्ट्रेशन करने की जरुरत नहीं होती है।

Punjab Ration Home Delivery: पंजाब में घर-घर पहुंचेगा राशन, केजरीवाल बोले-दिल्ली में रोड़े अटका रही बीजेपी



Navbharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *