Zomato share price hike only because of one news money doubled in just 4 months | एक खबर और Zomato का शेयर हुआ रॉकेट, 4 महीने में पैसे डबल

स्टॉक मार्केट (Stock Market)


Zomato Share Price- India TV Paisa
Photo:FILE Zomato Share Price

Zomato Share Price: नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लगातार पिछले पांच सत्रों की तेजी के बाद शुरुआती कारोबार में जोमैटो के शेयर 100 रुपये के पार पहुंच गए। एनएसई पर दोपहर 12:24 बजे जोमैटो के शेयर 5.87 फीसदी की बढ़त के साथ 101 रुपये पर कारोबार कर रहे थे। शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद से घाटे में चल रही कंपनी जोमैटो ने अप्रैल-जून तिमाही में पहली बार 2 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया। कंपनी ने 3 अगस्त को Q1FY24 के लिए अपने नतीजे घोषित किए। एक दिन बाद, ज़ोमैटो के शेयरों में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई, और लगभग 42 करोड़ शेयरों ने एक्सचेंजों पर कारोबार किया, जो ज़ोमैटो के मासिक कारोबार औसत से 14 गुना अधिक था। बात करें इस कंपनी से पिछले चार महीने में हुए रिटर्न की तो अगर इस शेयर ने निवेशकों के पैसे को दोगुना कर दिया है। अगर आपने 27 मार्च को इसके एक शेयर 50.10 रुपये में खरीदे होते तो वह आज वह आपको डबल रिटर्न दे चुका होता।

Zomato Share Price

Image Source : GOOGLE/NSE

Zomato Share Price

ज़ोमैटो का मुनाफ़ा ‘स्थगित टैक्स’ प्रावधान के कारण आया है। अनिवार्य रूप से ज़ोमैटो कुछ समय से घाटे में चल रही है, इसलिए भारतीय टैक्स कानूनों के अनुसार, इसे भविष्य की अवधि के लिए लाभ के मुकाबले उस नुकसान की भरपाई करने की अनुमति है। आसान भाषा में कहें तो कंपनी को जितना नुकसान हुआ है वह टैक्स के कुछ हिस्सों को सरकार को ना देकर मैनेज कर सकती है। ज़ोमैटो की वित्तीय फाइलिंग में 15 करोड़ रुपये के शुरुआती टैक्स-पूर्व नुकसान का संकेत देते हैं। इसके बाद, टैक्स प्रावधान समायोजन के कारण पूर्ववर्ती कैटेगरी के भीतर ‘स्थगित टैक्स’ में 17 करोड़ रुपये शामिल हो गए। जिसके चलते, वित्तीय स्पष्टिकरण में 2 करोड़ रुपये का टैक्स-पश्चात लाभ (PAT) दर्शाया गया।

दिख रहे अच्छे संकेत

अप्रैल-जून तिमाही में खाद्य वितरण के लिए ग्रॉस ऑर्डर मूल्य में साल-दर-साल(Y-O-Y) 14 प्रतिशत और क्रमिक रूप से 11 प्रतिशत की वृद्धि हुई। ग्रॉस ऑर्डर मूल्य चार्ज की गई कुल राशि है जिसमें भोजन की लागत और डिलीवरी शुल्क शामिल है। जेएम फाइनेंशियल ने 3 अगस्त की एक रिपोर्ट में कहा कि ग्रॉस ऑर्डर मूल्य में वृद्धि मांग में सुधार ‘ज़ोमैटो गोल्ड’ को अपनाने और बेहतर आपूर्ति-पक्ष निष्पादन के कारण थी। ज़ोमैटो गोल्ड के माध्यम से बिक्री ने कुल ग्रॉस ऑर्डर मूल्य में 30 प्रतिशत का योगदान दिया।

2025 तक मुनाफे में आने का है अनुमान

Q1FY24 में ब्लिंकिट कारोबार का घाटा 70 करोड़ रुपये कम हुआ। इसी अवधि में ब्लिंकिट का ग्रॉस ऑर्डर मूल्य साल-दर-साल 4.6 प्रतिशत बढ़ा। हालांकि, ऑर्डर की संख्या में गिरावट आई, जो अप्रैल-से-मई में अस्थायी व्यापार व्यवधान के कारण था, क्योंकि डिलीवरी पार्टनर वेतन को भारी वर्षा से संबंधित हाइपरलोकल चुनौतियों के साथ संशोधित किया गया था, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने 4 अगस्त की एक रिपोर्ट में कहा था कि उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2025 तक ब्लिंकिट मुनाफे में आ जाएगा।

ये भी पढ़ें: हफ्ते के पहले ही दिन बाजार में दिखी तेजी, सेंसेक्स और निफ्टी ने उछाल के साथ बंद किया कारोबार

 

Latest Business News





India TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *